पटना:-10 स्टाफ के संक्रमित होने के बाद आशियाना के एक बैंक को किया गया है सील, AIBOA ने CM को लिखी चिट्ठी - ETV BIHAR NEWS

Breaking

Followers

Wednesday, April 14, 2021

पटना:-10 स्टाफ के संक्रमित होने के बाद आशियाना के एक बैंक को किया गया है सील, AIBOA ने CM को लिखी चिट्ठी

 Etv bihar news:-

Prince kr.Raj

पटना के आशियानानगर में बंधन बैंक को 2 दिनों के लिए सील कर दिया गया है।

मंगलवार को पटना के आशियाना इलाके में बंधन बैंक की शाखा में उस समय अफरातफरी मच गई जब वहां के 10 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए। इसके बावजूद इस शाखा में बाकी के कर्मचारी काम करते हुए पाए गए। फिर प्रशासन ने इस ब्रांच को दो दिनों के लिए सील कर दिया। यह तो एक बानगी है। ना जाने ऐसे कितने बैंक होंगे जिनके कर्मचारी संक्रमित तो होते हैं, लेकिन उसको छुपा लिया जाता है। खबर बाहर नहीं आती है। बैंक पहले की तरह चलता रहता है। अभी तक बिहार में बैंकों के लिए कोई कोरोना गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। सभी ब्रांच में सौ फीसदी कर्मचारी रोज आ रहे हैं। ऐसे में ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (AIBOA), बिहार स्टेट कमेटी ने बिहार के मुख्यमंत्री को अपनी स्थिति से अवगत कराया है। एसोसिएशन ने कहा कि इस बार कोरोना की लहर में लोग बहुत जल्द संक्रमित हो रहे हैं। बैंक में लगातार लोगों का आना-जाना लगा रहता है, इसलिए परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लें। उधर, पटना से सटे बिक्रम में एक बैंक में कार्यरत 4 बैंककर्मी कोरोना पॉजिटिव हुए हैं।

AIBOA ने मुख्यमंत्री को लिखे आवेदन में कहा कि बैंकों का कार्यकाल 10 बजे से लेकर 2 बजे तक किया जाए। सिर्फ आवश्यक काम के लिए ही ग्राहकों को बैंक परिसर में प्रवेश की अनुमति हो। बैंक परिसर में प्रवेश के पूर्व निर्धारित मानकों का पालन अनावश्यक होना चाहिए। भीड़भाड़ और आवश्यक मानकों के प्रति पालन के लिए प्रशासनिक व्यवस्था की जाए। बैंकों की शहरी शाखाओं में 50 फीसदी कर्मियों की उपस्थिति हो और ग्रामीण तथा अर्ध शहरी शाखाओं को क्लस्टर के तहत सम-विषम तर्ज पर खोलने की व्यवस्था की जाए।


AIBOA ने आवेदन में लिखा है कि सामाजिक बचाव के लिए सैनेटाइजर, मास्क और अन्य साधन की व्यवस्था की जाए। जिन शाखाओं में संक्रमण के केस मिलते हैं उन्हें तत्काल सील किया जाए। कर्मियों के लिए आपातकालीन स्पेशल लीव की घोषणा की जाए। मौत या संक्रमण की अवस्था में कोरोना योद्धाओं के प्रावधान के अनुरूप मुआवजा, आपातकालीन अवकाश, समुचित चिकित्सा, रखरखाव का इंतजाम हो किया जाए।


पिछले साल बैंक के लिए अलग से गाइडलाइन जारी की गई थीं, जिसके तहत 50 फीसदी ही कर्मचारियों को बुलाया गया था। लेकिन इस बार अब तक कोरोना के इस लहर में सौ फीसदी कर्मचारी आ रहे हैं। सरकार की तरफ से इसको लेकर कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। बैंक कर्मी अपने संगठन से गुहार लगा रहे हैं कि वह कुछ करे। ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन, जो पूरे बैंकों का प्रतिनिधित्व करता है, उसकी तरफ से बिहार के CM नीतीश कुमार को यह आवेदन लिखा गयी है। हालांकि अभी तक सरकार की तरफ से कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किया गया है।

No comments:

Post a Comment