सहरसा होकर पूर्णिया कोर्ट से शिरडी के लिए 24 अप्रैल को आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन चलेगी। - ETV BIHAR NEWS

Breaking

Followers

Thursday, March 18, 2021

सहरसा होकर पूर्णिया कोर्ट से शिरडी के लिए 24 अप्रैल को आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन चलेगी।

 Etv bihar news:-

prince kr.Raj

सहरसा होकर पूर्णिया कोर्ट से शिरडी के लिए 24 अप्रैल को आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन चलेगी। दस दिन 11 रात का यात्रा कर ट्रेन चार मई को वापस पूर्णिया कोर्ट वाया सहरसा, मधेपुरा होकर पहुंचेगी।इस ट्रेन में सफर करने के लिए प्रति यात्री किराया दस हजार 395 रुपए लगेगा। आईआरसीटीसी की ट्रेन आधा दर्जन से अधिक ज्योतिर्लिंग और साई दर्शन कराएगी। ट्रेन में सफर करने के लिए बुकिंग शुरू हो गया है। आईआरसीटीसी के क्षेत्रीय प्रबंधक राजेश कुमार ने कहा कि पूर्णिया कोर्ट से मधेपुरा, सहरसा सहित अन्य स्टेशनों पर रुकते हुए शिरडी में साई बाबा दर्शन के लिए यात्रा 24 अप्रैल की सुबह आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन से शुरू होगी। ट्रेन में सफर करने वाले तीर्थयात्रियों को मुफ्त में भोजन और पानी उपलब्ध कराया जाएगा। कोविड काल को देखते हुए ट्रेन में 800 की जगह 700 यात्रियों को ही सफर कराया जाएगा। इस व्यवस्था से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि ट्रेन पूर्णिया कोर्ट से खुलेगी और मधेपुरा, सहरसा, खगड़िया, बेगूसराय, बरौनी, समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, पाटलिपुत्र, दानापुर रुकते हुए कई ज्योतिर्लिंग का दर्शन कराते हुए शिरडी पहुंचेगी। स्लीपर कोच वाली ट्रेन के हर कोच में सुरक्षा गार्ड तैनात रहेंगे। चलती ट्रेन में सफाई व्यवस्था बनाकर रखने के लिए सफाईकर्मी उपलब्ध रहेंगे। आईआरसीटीसी के वरीय पर्यवेक्षक पर्यटन संजीव कुमार ने कहा कि आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन से सफर करने वाले श्रद्धालु यात्रियों को उज्जैन में महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर, द्वारका में नागेश्वर ज्योतिर्लिंग, द्वारकाधीश, सोमनाथ में सोमनाथ ज्योतिर्लिंग, नासिक में र्त्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग और शिरडी में साई बाबा का दर्शन होगा। यात्री टिकट बुकिंग आईआरसीटीसी की वेबसाइट से ऑनलाइन कर सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 9771440031 पर संपर्क कर करा सकते हैं।

पिछले साल नहीं चली थी ट्रेन: पिछले साल कोविड के कारण पूर्णिया कोर्ट से सहरसा होकर दक्षिण भारत यात्रा पर 30 अप्रैल को जाने वाली आस्था सर्किट ट्रेन नहीं चल पाई थी। तीर्थयात्रियों की काफी मांग रहने के बाबजूद सरकार के दिशा निर्देश पर इसे रद्द करने का निर्णय लिया गया था। बुक हुए 600 से अधिक टिकट की राशि रिफंड करने की कार्रवाई पूरी की गई थी।

No comments:

Post a Comment