मधेपुरा:जिले में मनाया जा रहा है राष्ट्रीय नवजात सप्ताह: सिविल सर्जन - ETV BIHAR NEWS
  • Breaking News

    मधेपुरा:जिले में मनाया जा रहा है राष्ट्रीय नवजात सप्ताह: सिविल सर्जन


    जिले में मनाया जा रहा है राष्ट्रीय नवजात सप्ताह: सिविल सर्जन

    -स्वास्थ्य सुविधाऐं गुणवत्ता, समानता और गरिमा के साथ सुनिश्चित करना है उद्देश्य

    19 नवम्बर, मधेपुरा
    राष्ट्रीय नवजात सप्ताह देश में प्रत्येक साल 15 से 21 नवम्बर तक वर्ष 2000 से मनाया जाता है। इस साप्ताहिक कार्यक्रम का उद्देश्य बाल विकास के लिए नवजात देखभाल के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। इस दिशा में बुधवार को राज्य स्तरीय वेबिनार भी आयोजित की गई है। इसको लेकर जिला स्तर पर भी सप्ताह के दौरान कई गतिविधियां आयोजित की जा रही है, जिसमें कमजोर नवजातों की पहचान एवं उनकी बेहतर देखभाल जैसी अन्य गतिविधियां शामिल है।

    कोविड- 19 महामारी के दौरान आवश्यक है नवजात के जोखिमों को कम करना:

    सिविल सर्जन डॉ. सुभाष चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि इस वर्ष कोविड- 19 महामारी के दौरान मनाये जा रहे राष्ट्रीय नवजात सप्ताह का विषय है- नवजात को स्वास्थ्य सुविधाऐं गुणवत्ता, समानता और गरिमा के साथ प्रत्येक जगहों पर सुनिश्चित करना। नवजात को न केवल सुरक्षित रखने की आवश्यकता है बल्कि अपनी क्षमता को प्राप्त करने के लिए भी कामयाब होने की भी आवश्यकता है। नवजात अवधि बचपन के किसी भी अन्य अवधि की तुलना में सबसे अधिक जोखिमों से भरा होता है। इस अवधि के जोखिमो को कम करने के उद्देश्य से नवजात के लिए उपलब्ध स्वास्थ्य सेवाओं को और प्रभावी करने सहित व्यवाहर परक हस्तक्षेप की आवश्यकता है। जिसके लिए नवजात देखभाल के सेवाओं की स्थापना, मान्यता प्राप्त सामाजिक कार्यकर्ता (आशा) द्वारा स्वास्थ्य देखभाल संबंधी प्रथाओं को बढ़ावा देना, समुदाय स्तर पर जागरूकता और परामर्श के माध्यम से व्यवहार में सुधारों को बढ़ावा देना आदि है। ताकि सुविधा एवं सामुदायिक दोनों स्तरों पर गुणवत्ता, समानता और गरिमा के साथ नवजात की देखभाल के बारे में जागरूकता बढ़ाई जा सके।

    जागरूकता लाने के उद्देश्य से सदर अस्पताल सहित सभी स्वास्थ्यकेन्द्रों पर नवजात की देखभाल के संदेशों को प्रदर्शित किया जाएगा।
    स्वस्थ्य नवजात के लिए जन्म के अंतराल को बनाये रखने के उपायों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।
    लेबर रूम और डिलीवरी प्वाइंट सहित प्रसवोत्तर वार्डो की समीक्षा एवं मजबूती प्रदान किया जाएगा।
    इस दौरान किसी भी गतिविधि में बड़ी सभा का को प्रात्साहित कोविड- 19 के कारण नहीं किया जाना है।
    इस दौरान कोरोना या किसी प्रकार के

    वायरल संक्रमण से बचने के निम्न उपाय अवश्य अपनाये-
    मास्क अवश्य पहनें।
    बनाये रखें शारीरिक दूरी।
    हाथों पर नियंत्रण रखें, मुंह, आंख, नाक और कान के पास कम से कम ले जायें।
    किसी भी प्रकार का बुखार होने पर चिकित्सीय सलाह अवश्य लें।
    सर्दी, खांसी और बुखार होने पर अपना टेस्ट करवायें।

    रिपोर्ट पाॅजिटिव होने पर चिकित्सीय सलाह अनुरूप दवाईयों का सेवन एवं आइसोलेशन जरूरी है

    No comments

    Total Pageviews

    Followers