पूर्णियां/विश्व हाथ धुलाई दिवस को लेकर ज़िले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर कार्यक्रम का किया गया आयोजन - ETV BIHAR NEWS
  • Breaking News

    पूर्णियां/विश्व हाथ धुलाई दिवस को लेकर ज़िले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर कार्यक्रम का किया गया आयोजन


    विश्व हाथ धुलाई दिवस को लेकर ज़िले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर कार्यक्रम का किया गया आयोजन

    -कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए बार-बार हाथ धोना हैं जरूरी

    -कोरोना से बचाव के लिए मुंह पर मास्क व हाथों की करें सफाई

    -कोरोना से बचाव में हाथों की धुलाई है सहायक


    पूर्णियाँ: 15 अक्टूबर

    वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए अपने मुंह पर मास्क और सामाजिक दूरी बनाते हुए हाथों की सफ़ाई हर आधा घंटे के अंतराल पर करना जरूरी हो गया है,क्योंकि हाथों में न दिखने वाली गंदगी छिपी रहती है, जो किसी भी वस्तु को छूने, उसके उपयोग करने या कई तरह के दैनिक कार्यों के कारण होती है. यह गंदगी, बगैर हाथ धोए खाने या पीने वाले पदार्थों के ग्रहण करने से आपके शरीर में आ जाती हैं, और कई तरह की बीमारियों को जन्म देना शुरू कर देती हैं. इसीलिए सभी को हाथों की धुलाई के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से पूरे विश्व में प्रतिवर्ष 15 अक्टूबर को विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया जाता है.


    कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए बार-बार हाथ धोना हैं जरूरी: सीडीपीओं

    पूर्णियाँ शहरी क्षेत्र के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी राजेश रंजन ने बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण आम लोगों में हाथ धोने को लेकर पहले की अपेक्षा अब कुछ ज़्यादा ही जागरूकता आयी है. हाथ धोने मात्र से कोरोना संक्रमण के अलावे अन्य कई तरह की गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है. ऐसा माना जाता है कि अभी भी कुछ वैसे भी लोग हैं जो वगैर हाथ धोए खाद्य पदार्थ खा लेते है, जिसके कारण शरीर के अंदर कीटाणु प्रवेश कर जाते है और कई तरह की बीमारियां हो जाती हैं. कुछ भी खाने या पीने से पहले अपने हाथों की सफाई पूरी तरह से कर लेना चाहिए, जिससे कई प्रकार की बीमारियों को बचा जा सकता हैं.


    कोरोना से बचाव के लिए मुंह पर मास्क व हाथों को पूरी तरह से करना है सेनेटाइज: महिला पर्यवेक्षिका

    पूर्णियाँ शहरी क्षेत्र के सेक्टर-2 की महिला पर्यवेक्षिका मनीषा कुमारी ने बताया कि प्रत्येक वर्ष 15 अक्टूबर को विश्व हैंडवाशिंग डे मनाया जाता है, लेकिन कोविड-19 संक्रमण के कारण इस बार इस दिवस का महत्व काफी बढ़ गया है. घर में प्रवेश करते के बाद हर ब्यक्ति को कम से कम 30 सेकेंड तक हाथ धोना चाहिए ताकि आपके हाथों में लगे वैक्टरिया को हाथ धोकर हटाया जा सकता हैं. कोरोना संकट से लड़ने या बचाव के लिए सबसे पहले घर से निकलते समय अपने मुंह पर मास्क लगाने व किसी से मिलने या कार्यालय में भीड़ से बचाव और सामाजिक दूरी अपनाते हुए अपने कार्यो को करना हैं और जब अपने घर आते हैं तो अपने हाथों को पुरी तरह से सेनेटाइज करना जरूरी हैं ,क्योंकि जब तक आपके हाथों की सफ़ाई पूरी तरह से नहीं हो जाती हैं तब तक आपके हाथों से वैक्टरिया नही जा पाएगी।


    कोरोना से लड़ने में हाथों की धुलाई हैं सहायक: सेविका

    शहरी क्षेत्र के आंगनबाड़ी केंद्र संख्या-25 की सेविका प्रतिमा रानी का कहना है कि जब से लॉक डाउन लगा है तभी से वह आंगनबाड़ी केंद्र पर बच्चों को नहीं बुलाती हैं, लेकिन अपने पोषक क्षेत्र में गृह भ्रमण कर नौनिहालों के माताओं व अभिभावकों को पोषण के संबंध में जागरूक करती है। कब क्या खिलाना हैं और किस तरह का आहार बच्चों को देना है, इसके बारे में वह जानकारी तो देती ही है। साथ में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मास्क लगाने, हाथों को ठीक से सेनेटाइज करने व सामाजिक दूरी अपनाने के लिए जागरूक करती हैं, ताकि कोरोना संक्रमण के फ़ैलाव से लोगों को बचाया जा सके। इसके साथ ही खाना खाने से पहले 30 से 40 मिनट तक बच्चें, बुजुर्ग या अन्य सभी को अपने हाथों को रगड़-रगड़ कर धोने के बारे में बताया जाता हैं।


    ऐसे करें हाथों की धुलाई:

    -सबसे पहले हाथों में लीक्विड साबुन लें.
    -अब इसे अपने हथेलियों में पूरी तरह से रगड़ें.
    -उसके बाद हाथों के चारों तरफ़ साबुन को लगाएं.
    -अंगुली के चारों तरफ़ साबुन लगाकर ठीक से रगड़े.
    -सबसे बाद में अपने कलाई को साबुन से अच्छी तरह साफ करें.
    -हाथों को ठीक से सफ़ाई करने में 30 से 40 सेकेंड तक समय लगता हैं.
    -हाथों को सूखे नैप्किन या तौलिए से सुखाने के बाद ही कोई खाद्य व पेय पदार्थ को खाएं.

    No comments

    Total Pageviews

    Followers