सुपौल:त्यौहारी सीजन में रहें सतर्क एवं संयमित, थोड़ी सी लापरवाही पड़ सकती है भारी - ETV BIHAR NEWS
  • Breaking News

    सुपौल:त्यौहारी सीजन में रहें सतर्क एवं संयमित, थोड़ी सी लापरवाही पड़ सकती है भारी




    त्यौहारी सीजन में रहें सतर्क एवं संयमित

    थोड़ी सी लापरवाही पड़ सकती है भारी


    सुपौल, 14 अक्टूबर ।
    जिले में कोरोना संक्रमण के आरंभिक काल में जिला स्तर एवं देश व्यापी प्रचार-प्रसार से लोगों में आयी जागृत्ति एवं लोगों द्वारा कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों की सख्ती से अनुपालन किये जाने से कोरोना संक्रमण की गति धीमी हुई है। लेकिन इससे अति-उत्साहित होने की आवश्यकता नहीं है। कोरोना संक्रमण के फैलने की रफ्तार में सिर्फ कमी आयी है, यह अभी खत्म नहीं हुआ है।
    जिला स्वास्थ्य सीमित के डीपीएम बालकृष्ण चौधरी ने यह बातें कही हैं । उन्होंने बताया कि देश के जिन हिस्सों में कोरोना की धीमी होती रफ्तार के बाद लोगों द्वारा कोरोना संक्रमण के फैलने से रोकने के उपायों की अनदेखी की गई वहाँ फिर से कोरोना अपने पांव पसार रहा है। ऐसे में हमें उनसे सबक लेने की जरूरत है।

    बढ़ता प्रदूषण स्तर चिंताजनक-
    डीपीएम ने अनलॉक- 5 में सावर्जनिक यातायात चालू हो जाने से सड़कों के आस-पास बढ़ते प्रदूषण से आगाह करते हुए कहा कि बढ़ता हुए प्रदूषण स्तर कोरोना संक्रमण को गति प्रदान कर सकता है। इसलिए जरूरी है कि अधिक प्रदूषण वाले स्थानों से जाने से बचा जाय।

    सार्वजनिक यातायात साधनों का उपयोग कर रहे लोग
    कोरोना के आरंभ में तो लोग कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का कठोरता से पालन करते हुए नजर आये। आरंभ में कम लोग ही यातायात के साधनों का उपयोग भी कर रहे थे। पर इन दिनों सार्वजनिक यातायात का उपयोग अधिक से अधिक लोगों द्वारा किया जा रहा है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कठोरता से नहीं किया जा रहा है। यह चिंता का विषय है।
    संक्रमण की धीमी होती रफ्तार से निश्चिंत न हों-

    पिछले सात महीनों से कोरोना से बचाव के नियमों का कठोरता से पालन करते हुए जिस प्रकार जिले के लोगों ने कोरोना के प्रभाव कम किया है उसे बनाये रखने की जरूरत है । डीपीएम  चौधरी  ने कहा कि पूर्व के प्रयासों की सार्थकता तभी कारगर होगी जब हम कोरोना संक्रमण को रोकने संबंधी प्रयास सतत् जारी रखेंगे।

    त्यौहारी सीजन में रहें सतर्क एवं संयमित

    डीपीएम  चौधरी ने कहा कि त्यौहार का समय आरंभ होने जा रहा है। बाजार की रौनक बढ़ने वाली है। लोग खरीददारी के लिए बाहर निकलेंगे। ऐसे में मास्क का उपयोग, शारीरिक दूरी बनाये रखना, हाथों को बार-बार सैनिटाइज
    करना आदि मौलिक कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का  पालन करना ही होगा। उन्होंने भीड़-भाड़ से बचने की सलाह देते हुए कहा कि ऐसा न हो कि थोड़ी सी भी नियमों की अनदेखी, कहीं आपके पर्व त्योहार की खुशियों पर प्रतिकूल प्रभाव न डाल जाये।

    कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल: 
    व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
    बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
    साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
    छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
    उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
    घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
    बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की  दूरी बनाए रखें.
    आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
    मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें 
    किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
    कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें 
    बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

    No comments

    Total Pageviews

    Followers