पूर्णियां/संक्रमण को लेकर उपजी मानसिक तनाव का पायें समाधान - ETV BIHAR NEWS
  • Breaking News

    पूर्णियां/संक्रमण को लेकर उपजी मानसिक तनाव का पायें समाधान

    संक्रमण को लेकर उपजी मानसिक तनाव का पायें समाधान

    • निमहांस द्वारा जारी टॉल फ्री नंबर 080-46110007 पर करें कॉल

    • नशीले पदार्थो से बनायें दूरी, रोजमर्रा के कामों में बढ़ायें व्यस्तता 

    • मानसिक तनाव से बचने के लिए 7 से 9 घंटे की नींद है जरूरी

    पूर्णियाँ : 08 अक्टूबर

    कोविड-19 संक्रमण से उपजे डर के कारण लोग मानसिक तनाव का भी सामना कर रहे हैं. विशेषकर उपचाराधीन लोगों में मानसिक तनाव का असर अधिक देखने को मिला है. मानसिक तनाव को दूर करने की दिशा में स्वास्थ्य विभाग जागरूकता अभियान चला रहा है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा आमजन के साथ कोरोना उपचाराधी लोगों में अवसाद व मानसिक तनाव को दूर करने के लिए काउं​सलिंग की सुविधा मुहैया कराया जा रहा है. इस दिशा में निमहांस की ओर से टॉल फ्री नंबर भी जारी किया गया है. इस टॉल फ्री नंबर 080-46110007 पर कॉल कर मानसिक तनाव के विषयों पर बातचीत कर लोग समाधान पा सकते हैं. 

    नशीले पदार्थो से बनायें दूरी:  

    सिविल सर्जन डॉ उमेश शर्मा ने बताया कि कोरोना संक्रमण के डर का असर लोगों पर पड़ा है. इस डर को दूर करने के लिए लोग मादक पदार्थों का सेवन भी करने लगे हैं. मादक पदार्थों के सेवन के व्‍यक्‍ति मादक पदार्थों के सेवन के लिए किसी भी हद तक जा सकता है. तंबाकू, शराब व नशीले पदार्थों के सेवन करने से लोग मानसिक रूप से परेशान तो होते ही हैं साथ ही साथ व्यक्तिगत और सामाजिक जीवन में तनाव, प्रेम संबंध, दांपत्य जीवन व तलाक आदि इसके मुख्य कारण हैं इसीलिए जितना हो सके नशीले पदार्थों से दूर रहना चाहिए. 

    तनाव दूर करने के लिए व्यस्त रहें:
     
    जिला कार्यक्रम प्रबंधक ब्रजेश कुमार सिंह ने कहा कोविड-19 के दौरान मानसिक तनाव दूर करने के लिए दैनिक कार्यों की रूटीन बना कर खुद को व्यस्त रखें. योग या मेडिटेशन को अपनायें और संक्रमण से जुड़ी नकारात्मक विचारों को दूर रखें. उन्होंने बताया मानसिक तनाव को दूर रखने के लिए पर्याप्त नींद भी जरूरी है. रोजाना कम से कम 7 से 9 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए.  

    सोशल मीडिया से बनाये दूरी और रखें परिवार से नजदीकियां:

    कोरोना से संबंधित दिखाए जाने वाले इन खबरों का भी असर मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ा है. खबरों की नकारात्मकता से बचने का प्रयास करें. सोशल मीडिया से संक्रमण को लेकर आप तक पहुंचने वाली सभी जानकारी सही नहीं होती. सूचनाओं के लिए विश्वसनीय स्रोतों का सहारा लें. परिवार के साथ अधिक से अधिक वक्त बितायें.

    No comments

    Total Pageviews

    Followers